हैकर्स से बचाएगा 2FA

भारत में हैकर्स एक बार फिर से ख़बरों में हैं। पहले कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी का ट्वीटर अकाउंट हैक किया गया, फिर विवादित शराब कारोबारी विजय माल्या का और अब ताज़ा शिकार बने हैं वरिष्ठ टीवी पत्रकार बरखा दत्त और रवीश कुमार। इन सभी मामलों में हैकर्स ने इनके ट्वीटर अकाउंट हैक कर लिए और फिर उनके अकाउंट से अनाप-शनाप बातें पोस्ट कर दीं। ख़बरों के मुताबिक ‘Legion’ नाम के हैकर्स ग्रुप ने इसकी जिम्मेदारी ली है व दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल समेत कुछ अन्य लोगों के अकाउंट हैक करने की ओर इशारा भी किया है।
ऐसे में ट्वीटर की तरफ से लोगों से 2FA की मदद से अपने अकाउंट्स को और सेफ बनाने की बात कही गई है। ऐसे में यह समझना जरूरी है कि ये 2FA क्या है? और हम किस प्रकार से न केवल ट्वीटर बल्कि, फेसबुक, जीमेल, इंस्टाग्राम, स्नैपचैट, याहू, एप्पल, अमेजॉन, फिडेलिटी इंवेस्टमेंट्स, आउटलुक आदि के अपने अकाउंट्स को और ज्यादा सुरक्षित बना सकते हैं।
दरअसल 2FA का मतलब है टू फैक्टर ऑथेंटिकेशन। आमतौर पर जब हम लॉगिन करते हैं तो सिर्फ हमें पासवर्ड की दरकार होती है, जिसे हैकर्स आसानी से हैक करके बदल देते हैं। लेकिन आपने यदि अपने अकाउंट में 2FA का ऑप्शन चुना है तो किसी भी नए फ़ोन या कंप्यूटर के जरिए लॉगिन करने पर आपका काम सिर्फ पासवर्ड से नहीं चलेगा, बल्कि ऐसे में आपके रजिस्टर्ड मोबाइल पर एसएमएस के रूप में 6 अंकों का एक लॉगिन कोड या वेरिफिकेशन कोड भी आएगा और बिना पासवर्ड और इस कोड के आप लॉगिन नहीं कर पाएंगे। जाहिर है कि इससे आपके ईमेल अकाउंट या सोशल मीडिया अकाउंट को दोहरी सुरक्षा मिलती है। हैकर्स जब किसी नए डिवाइस से आपके अकाउंट को हैक करने की कोशिश करेंगे, तब उनके पास पासवर्ड हासिल करने का तरीका तो होगा, लेकिन वे आपका 6 अंकों वाला लॉगिन कोड हासिल नहीं कर पाएंगे, क्योंकि उसका एसएमएस आपके फोन पर आएगा।
ये सुविधा उन सभी प्रमुख वेबसाइट्स या मोबाइल ऍप्लिकेशन्स में मौजूद हैं, जिनका आप इस्तेमाल करते हैं। इसके लिए आपको सिक्योरिटी एंड प्राइवेसी सेटिंग में जाकर 2FA के विकल्प का चुनाव करना होगा। अगर आपका फ़ोन नंबर पहले से दर्ज नहीं है तो इसे दर्ज कराना होगा। कमोबेश सभी वेबसाइट्स में 2FA लागू करने का एक ही तरह की प्रक्रिया है। विशेष जानकारी के लिए 2FA की जानकारी देने वाली कुछ वेबसाइट्स या फिर जिस सेवा का आप इस्तेमाल कर रहे हैं, उसके हेल्प एंड सपोर्ट वाली लिंक पर जाकर भी आप जानकारी हासिल कर सकते हैं।मसलन, https://support.twitter.com/articles/20170024 पर जाकर आप ट्वीटर में 2FA लागू करने का तरीका सीख सकते हैं। या, फेसबुक के लिए आप इस लिंक पर जा सकते हैंhttps://m.facebook.com/about/basics/how-to-keep-your-account-secure/login-approvals/…याद रखें कि 2FA इस सेवा के लिए प्रयोग किया जाने वाला एक सामान्य शब्द या टर्म है, लेकिन अलग अलग वेबसाइट पर जब आप इसे लागू करने के लिए जाएंगे तो इसके लिए समान अर्थ वाले किसी अन्य टर्म का प्रयोग भी होता है। मसलन फेसबुक इसके लिए लॉगिन अप्रूवल शब्द का इस्तेमाल करता है तो वहीँ ट्वीटर इसके लिए लॉगिन वेरिफिकेशन शब्द का इस्तेमाल करता है। मोटे तौर पर देखा जाए तो 2FA और कुछ नहीं बल्कि अपने अकाउंट को दोहरी सुरक्षा देने का नाम है, जिसका इस्तेमाल हम सभी को करना चाहिए।
Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s